web 3.0 आखिर है क्या? क्या सच मे Internet की दुनिया बदलने वाला है | web 3.0 kya hai in hindi

इस पोस्ट मे हम बात करने वाले है web 3.0 kya hai in hindi क्या internet की ये दुनिया बदलने वाली है अगर आप एक youtuber है Blogger है या फिर एक Digital Marketer है तो आपको क्या क्या दिककते आ सकती है। Web 3.0 के आने से कैसे हम अपने Data को Internet पर safe रख पाएंगे ताकि कोई हमारा Data चुरा न सके और उसका गलत इस्तेमाल न कर सके। तो चलिए जानते है web 3.0 के बारे मे और सबसे पहले हम सारे webs के बारे मे जनेगे।

Table of Contents

Web 1.0: क्या है? What is Web 1.0

सबसे पहले हम इसके बारे मे जान लेते है Web 1.0 internet का 1st generation था इसकी सुरुआत 1991 मे हुई थी और 2004 मे समाप्त होगई थी। जब सबसे पहले internet आया था तो उसकी जो websites थी उसके content को सिर्फ आप देख सकते थे पढ़ सकते थे लेकिन आप उस content के साथ ज्यादे interact नहीं कर सकते थे।

Web 2.0: क्या है? What is Web 2.0

इसको 1999 मे लॉन्च किया गया था Internet की वो generation जिसमे आप Website Blog या फिर Application से direct interact कर सकते थे जैसे की Website जिसमे JavaScript, CSS है जहा आप इमेज को download कर सकते थे Image को upload कर सकते थे या फिर Forms को fill कर सकते थे।

मै आपको example देकर समझने की कोसिस करता है जैसे की Amazon, Facebook, Google है जब भी हम Facebook use करते है तो Facebook को ये बात पता होता है की हम किस type के content देखते है कितनी देर तक देखते।

अब Facebook हमारे इस data को दूसरे Advertising companies को सेल करता है जिस से companies अपनी revenue बना रही है। Web 2.0 एक mediator की तरह था जो की हमारे data को जैसे चाहे वैसे use कर सकता था और पैसा बना सकता था।

web 3.0 आखिर है क्या? क्या सच मे Internet की दुनिया बदलने वाला है | web 3.0 kya hai in hindi
Web 3.0 kya hai in hindi

Web 3.0 क्या है? |web 3.0 kya hai in hindi

web 3.0 kya hai in hindi : Web 3.0 एक ऐसा mechanism है जहा किसी Organization, Company का किसी और के Data पर कोई control नहीं है यह एक तरीके का decentralized platform है। इसमे आप जो भी Data YouTube, Facebook या Google मे अपलोड करते है उसके Owner आप होंगे न की YouTube, Facebook या Google जब तक आप इनको allow नहीं करेंगे ये आपकी data के साथ छेड़छाड़ नहीं कर सकते है।

मै आपको थोड़ा सीधे तरीके से समझने की कोसिस करता है जिसे मान लीजिए आपने अपनी website पर कोई ब्लॉग लिखा है अब आपके उस content की कोई copy नहीं कर सकता है।

Web 3.0 internet का आने वाला future है आने वाले 2 -3 सालों मे आपको इसका बहुत ही तगड़ा असर देखने को मिलेगा। इसकी सबसे बड़ी खासियत ये है की इस पर किसी भी कंपनी का control नहीं रहेगा वो चाहे amazon हो या फिर google हो।

आज के समय मे Digital Marketer और Bloggers को ये पता होता है SEO कैसे काम करती है कैसे हम अपने पोस्ट को rank कर सकते है।

इसे भी पढे: Tamilrockers 2022 New Movie Download | जाने इस Website का सच कैसे ये Movies को Leak करता है ?

लेकिन आने वाले फ्यूचर मे ये सारा कुछ AI Based होगा जिसमे अगर आप google मे कुछ search करते है तो वो result आपको सिर्फ Google के Database से ही नहीं बल्कि वह से रिजल्ट देगा जहा Google, Bing, Amazon, Yahoo, Facebook जैसे बड़ी कॉम्पनियों के Data Centralized करके रखा जाएगा।  

अगर आप एक YouTubers है और आप जीतने भी videos बनाते है वो videos YouTube के database मे save होती थी पर जब Web 3.0 implement हो जाएगा तब वो videos सिर्फ YouTube के database मे ही नहीं बल्कि world wide सारे server पर save होगी जिस से YouTube आपके Videos को अपनी मर्जी से delete नहीं कर सकता है।

Web 3.0 blockchain based technology पर काम करती है इसमे किसी का कोई कंट्रोल नहीं होगा Web 3.0 (Semantic Web) की मदद से ही cryptocurrency चलती है इसकी सुरुआत 2017 मे ही हो गया था। हुमने ये तो जान लिया की web 3.0 kya hai in hindi अब इसके फायदे और नुकसान के बारे मे भी जान लेते है।

Web 3.0 के फायदे

  1. Web 3.0 मे decentralization और Blockchain को priority दी जाएगी।
  2. User अपने Data का Owner खुद होगा न की कोई संस्था या फिर platform owner.
  3. इसमे आपकी privacy का खास ध्यान रखा जाएगा।
  4. Knowledge share करना easy हो जाएगा।
  5. Internet पर काम करना और easy होगा क्युकी तब Internet personalized होगा।
  6. Google पर हमारे queries का सटीक Results मिलेगा।  

Web 3.0 के नुकसान

  1. Low Feature वाले phones मे Web 3.0 को use करने की छमता कम होगी।
  2. Technology अभी इसके लिए पूरी तरीके से तैयार नहीं है।
  3. लोग internet को पर और भी ज्यादे समय waste करेंगे।
  4. Privacy Policies बनाने की जरूरत पड़ेगी।  

Conclusion

तो ये था हमारा आज का ब्लॉग जिसमे हुमने ये जाना की web 3.0 kya hai in hindi अभी इसके बारे मे हम आपको और जानकारी देने की कोसिस करेंगे जैसे जैसे ये technology और बढ़ेगी। उमीद करता हु की आप लोगों को ये पोस्ट पसंद आया होगा अगर ये पोस्ट आपको पसंद ये है तो हुमए comment box मे जरू बताए तब तक के लिए आपसे विदा लेते है धन्यवाद। 

Leave a Comment

%d bloggers like this: