(P2P) Peer to Peer Network in Hindi क्या होता है जाने हिंदी में

आज के ब्लॉग में हम बात करने वाले हैं कि peer to peer network in hindi क्या होता है और यह कैसे काम करता है और इसकी शुरुआत कैसे हुई थी, इसके साथ क्या प्रॉब्लम होता है और इसमें क्या-क्या फंक्शन होते हैं आपके सरे सवालों का जवाब आपको आज इस ब्लॉग में मिलेगा

सबसे पहले हम समझते हैं कि जो हमारा Normal Internet क्या होता है वह कैसे काम करता है peer to peer network के बारे में अभी हम थोड़ी देर बाद बात करेंगे

हम Website Surfing का example लेते हैं, जब भी हम कोई वेबसाइट विजिट करते हैं  तो वह वेबसाइट पहले सर्वर से डाउनलोड होती है तब जाकर हमे उसका डाटा दिखाई देता है, प्रेजेंट टाइम में आप इस वेबसाइट पर यह ब्लॉग पढ़ रहे हैं यह भी एक server से डाउनलोड होकर आई है यह ब्लॉग किसी के पर्सनल  कंप्यूटर से डाउनलोड होकर नहीं आ रही है यह गूगल के सर्वर से डाउनलोड होकर आ रहा है

हम आपको एक और उदहारण लेकर समझाते हैं जब भी हम किसी को  ईमेल के थ्रू कोई फाइल भेजते हैं तो वह फाइल डायरेक्ट उसके कंप्यूटर में नहीं चली जाती है वह एक रास्ते से होकर जाती है  मेरा मतलब यह हुआ कि जब भी आप ईमेल लिखते हैं तो वह सबसे पहले Gmail के server पर जाती है और वहां save हो जाती है और जिसको आपने वह E-Mail send किया होता है वह जब ओपन करके देखता है तो उसको वहां पर है आपके द्वारा भेजी गई फाइल दिखाई देती है

आप और आपने जिस इंसान को मेल सेंड किया है आप दोनों लोग जीमेल का प्रयोग कर रहे हो, पर जब भी आप कोई फाइल या एमई सेंड करते है दूसरे इंसान को तो जीमेल का सर्वर आप दोनों को जोड़ने के लिए जीमेल अपना खुद का सरवर यूज करता है ताकि आप एक दूसरे को ईमेल तथा कोई भी फाइल भेज सकें आपका सारा डाटा जीमेल के सरवर के थ्रू ही जाता है इसलिए यह peer to peer network नहीं मन जायेगा

Peer to Peer नेटवर्क क्या होता है? (Peer to Peer meaning in hindi)

Peer to Peer network (P2P) का मतलब होता है  जब भी हम कोई चीज है या फाइल किसी दूसरे को सेंड करते हैं तो वह फाइल किसी सरवर से नहीं जाता है वह डायरेक्ट उसके पीसी में जाकर डाउनलोड हो जाता है, इसमें किसी Mediator या Centre Hub नहीं जरूरत नहीं होती है  

(P2P) Peer to Peer Network in Hindi क्या होता है जाने हिंदी में
peer to peer network in hindi

आपके कंप्यूटर और जिसको आपने भेजा उसका कंप्यूटर आप दोनों के कंप्यूटर के बीच में कोई भी server काम नहीं करता है और न ही किसी सर्वर का उसे होता है आप जो चीज भी सेंड करेंगे वह डायरेक्ट उसके कंप्यूटर में डाउनलोड हो जाएगा या सेंड हो जाएगा

उदहारण के लिए अगर मैं आपको समझाऊं तो मान लीजिए आपके पास Printer है और आपके जो दोस्त हैं उनके पास प्रिंटर नहीं है लेकिन आपके दोस्तों को कुछ प्रिंट आउट निकालना है तो आप क्या करेंगे की आप अपने  कंप्यूटर के रिसोर्सेज को अपने दोस्तों के साथ शेयर करेंगे जिस से ये होगा की आपके दोस्त आपके कंप्यूटर के साथ कनेक्ट होजाएंगे और वो अपने डाटा या फाइल को प्रिंट कर सकते है आपके प्रिंटर के द्वारा, इस प्रकार के कनेक्शन को ही Peer to Peer Network कनेक्शन कहते हैं

इसे भी पढ़े : OLA Me Apni Bike Kaise Lagaye : हर महीने 15-20 हज़ार कमाए OLA Bike से

Peer to Peer Network कनेक्शन की शुरुआत कब हुई थी?

Peer to Peer Network कनेक्शन की शुरुआत 1999 में हुई थी, एक सर्विस हुआ करता था जिसका नाम है Napster.

देखा जाए तो इसकी शुरुआत बेसिकली File Sharing के थ्रू हुई थी जब MP3 फाइल्स को शेयर किया जाता था क्योंकि उस जमाने में MP3 फाइल्स की वेबसाइट नहीं होती थी जिससे कि सभी लोग डाउनलोड कर सकें, इसलिए Napster का प्रयोग करके Mp3 फाइल को एक दूसरे में शेयर किया किया जाता था

(P2P) Peer to Peer Network in Hindi क्या होता है जाने हिंदी में
(P2P) peer to peer network in hindi

इसलिए वहां पर एक Peer to Peer Network कनेक्शन चलाई गई जिसका नाम था Napster. Napster का यूज करके कोई भी इंसान किसी दूसरे इंसान की कंप्यूटर से गाने डाउनलोड कर सकता है

मान लीजिये मेरे पास कुछ MP3 गाने है और उसे आप अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करना चाहते हैं तो आपने Napster का यूज करके मेरे कंप्यूटर से अपने कंप्यूटर में वह सारा गाना डाउनलोड कर सकते हैं इसमें क्या होता था कि जब भी अपने Napster का यूज करेंगे तो आप जिसके कंप्यूटर से कोई फाइल अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करेंगे तो वह सबसे पहले Napster की Hub में सेव होता है तब उसके बाद आपके कंप्यूटर में डाउनलोड होगा मतलब यह कि अगर आप मेरी कंप्यूटर से गाना को डाउनलोड करना चाहेंगे तो वह सबसे पहले गाना Napster के Central Hub में सेव होगा

Peer to Peer (P2P) Network यूज़ करने पर क्या क्या परेशानी होती थी ?

मान लीजिए आप ने Torrent का यूज करके कोई गेम डाउनलोड किया और अब आप यह नहीं चाहते कि उसे अपलोड करूं ताकि कोई और भी उस गेम को डाउनलोड कर सके, क्योंकि वहां पर आपकी Bandwidth यूज होगी

किसी और का Torrent यूज़ करके उस इंसान की फाइल को डाउनलोड तो कर लेते हैं लेकिन वह दूसरों के साथ शेयर नहीं करना चाहते हैं क्योंकि उसके लिए bandwidth इस्तेमाल होती है, कौन चाहता है कि बिना मतलब के अपने इंटरनेट की आधी स्पीड गवा दे किसी दूसरे को फाइल देने में.

1. इसलिए Peer to Peer Network में यही प्रॉब्लम होती है कि आप किसी का Torrent use करके अपना फाइल डाउनलोड कर लेते हैं लेकिन आप किसी दूसरे के साथ शेयर नहीं करना चाहते हैं क्योंकि आपका उसमें बैंडविथ कम हो जाएगा

(P2P) Peer to Peer Network in Hindi क्या होता है जाने हिंदी में
peer to peer network in hindi

2. Peer to Peer Network कनेक्शन में Copyright के issue आने लगे थे इसमें क्या होता था कि मान लीजिये आपने कोई गेम बनाया और आपका टोरेंट यूज करके किसी और ने उस गेम को डाउनलोड कर लिया अब उसके बाद वह अपने कंप्यूटर से उस गेम को upload करके छोड़ देता है और उस गेम को हजारों लोग डाउनलोड करना शुरू कर देते हैं इसमें क्या होता है कि वह बिना गेम को बनाएं आपका Copyright यूज़ करके वह उस फाइल को या गेम को शेयर कर देता है इसलिए Peer to Peer Network कनेक्शन में यही प्रॉब्लम होती है कि आपका rights लोग चोरी कर लेते हैं

Peer to Peer Network के एग्जांपल

  1. Utorrent
  2. BitTorrent
  3. WebTorrent

आपने देखा होगा कि कुछ समय पहले लोग UTorrent का यूज़ करते थे UTorrent में भी Peer to Peer Network का यूज किया जाता है

इसमें आप किसी और का torrent यूज करके किसी और के गेम या फाइल को डाउनलोड कर लेते हैं वह भी बिना किसी सरवर के, और उसके बाद आप उस डाउनलोड किए हुए फाइल को अपने कंप्यूटर से अपलोड कर देते हैं ताकि अगर किसी किसी और को या गेम या फाइल डाउनलोड करना हो तो वह आपका torrent लिंक यूज़ करके उस गेम का फाइल को डाउनलोड कर सकता है

जब भी आप किसी के कॉपीराइटेड मैटेरियल को शेयर करते हैं किसी और के बनाएंगे वीडियो कोर्सेज, गेमस या सॉफ्टवेयर को तो यह इल्लीगल मन जाता है

अगर आप किसी के Copyright मैटेरियल को उससे बिना पूछे या उसके बिना परमिशन के किसी और के साथ शेयर करते हैं तो यह बहुत ही इल्लीगल माना जाता है इसीलिए P2P नेटवर्क इस मामले में नुकसानदायक मनाया गया है

P2P नेटवर्क का यूज करके लोग Virus, Malware कंप्यूटर में शेयर कर देते हैं जिस से की बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है आपको शायद नहीं पता होगा की 2009 – 2010 मैं Torrent का यूज करके एक बहुत ही खतरनाक Malware शेयर किया गया था

(P2P) Peer to Peer Network in Hindi क्या होता है जाने हिंदी में
peer to peer network in hindi

वह Malware CS4 के Photoshop के किसी वर्जन के थ्रू शेयर किया गया था मैं यह तो कंफर्म नहीं बता पाऊंगा कि Photoshop का कौन सा वर्जन से वह malware शेयर किया गया था पर है इतना जरूर बता सकता हु की जो Photoshop CS4 शेयर किया गया था उसके setup में वह वायरस नहीं था उसके साथ में जो क्रैक फाइल शेयर की गई थी उसमें वायरस था

इसलिए इंडिया में Torrent का यूज कम कर दिया गया क्योंकि Torrent का यूज करके लोग बहुत ज्यादा ही इल्लीगल काम कर रहे थे जैसे कि किसी सॉफ्टवेयर की piracy करना, किसी के Copyright मटेरियल को यूज करना या फिर किसी Paid Software का crack वर्जन बनाना

Conclusion

आज के ब्लॉक में हमने यह जाना की peer to peer network in hindi क्या होता है और इसका यूज करना illegal है या फिर legal है इसको कैसे यूज़ करते हैं या काम कैसे करता है, उम्मीद करता हु की आपको P2P के बारे में समझ आ गया होगा अगर आपको यह ब्लॉग पसंद आया हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें तथा अपने उस दोस्त को भी शेयर करें जो और टेक्नोलॉजी में इंटरेस्टेड हो धन्यवाद

Leave a Comment

%d bloggers like this: