Third Party इन्श्योरेन्स क्या होता है और इसको लेने के क्या फायदे है? | Third Party Insurance Kya Hota Hai

ऐसे ही लैटस्ट अपडेट के लिए हमसे जुड़े रहिए हमारे Whats'App पर जुड़े।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Please Follow On Instagram instagram

अब आपके मन में सवाल होगा की आखिरकार ये थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या है?(third party insurance kya hota hai)और सभी वाहनों में इसका होना इतना अनिवार्य क्यों कर दिया गया है और साथ ही इस इंश्योरेंस से आपका क्या फ़ायदा है? इन सबके बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े। 

चाहे कोई भी वाहन हो सभी के जरूरी कागज़ और दस्तावेज सही होना चाहिए। यह नियम सभी प्रकार के वाहनों में लागू है। सभी वाहनों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस बहुत अनिवार्य होता है। चाहे आपका टू व्हीलर व्हीकल हो या अन्य कोई वाहन सभी के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जरूरी है। अगर आप सड़क पर बिना इंश्योरेंस के वाहन चलाते दौरान पाए जाते है, तो आपको इसके लिए जुर्माना भरना पड़ता है।

बिना व्हीकल बीमा के अगर आप सड़क पर वाहन चलाते है तो ये मोटर व्हीकल 1998 कानून का उल्लंघन माना जाता है। इसका पालन न करने वाले लोगो से 2000 रुपए तक का जुर्माना या 3 महीने तक की जेल भी हो सकती है। तो चलिए जानते है की थर्ड पार्टी इन्शुरन्स का मतलब क्या होता है?

Table of Contents

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या है? | third party insurance kya hota hai

इस थर्ड पार्टी insurance को लाइबिलिटी कवर भी कहा जाता है। यह नियम को पुरे देश में सभी वाहनों के लिए 1 सितंबर 2018 से लागू है। इस कानून में टू व्हीलर चालको को थर्ड पार्टी इंश्योरेंस की अवधि 5 साल के लिए और कार या अन्य वाहनों में कम से कम 3 साल का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाना अनिवार्य है। 

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के तहत सड़क दुर्घटना होने पर हर्ज़ाना आपको नहीं बल्कि सामने वाले को कंपनी देती है। कंपनी वाहन से दुर्घटना ग्रस्त उस व्यक्त्ति के नुकसान की पूरी भरपाई उठाती है। इसमें सामने वाले को पैसे देने की जरुरत नहीं है।   

यह बीमा वाहन की दुर्घटना या शारीरक क्षतिग्रस्त होने पर आर्थिक सहायता कंपनी देती है। इसका लाभ थर्ड पार्टी यानी सामने वाले को होता है जिसको आपने टक्कर मारी है। 

उदहारण  के लिए– आपके वाहन से सड़क दुर्घटना होती है तो आपके वाहन से टकराने वाले सामने वाले वाहन नुकसान की भरपाई इंश्योरेंस कंपनी सामने वाले को देगी न की आपको। इस इंश्योरेंस का फायदा सामने वाले व्यक्त्ति को मिलता है।

इसे भी पढे:
> किसी भी बाइक या कार का इन्श्योरेन्स कैसे चेक करे?

> (RC) आर सी क्या होता है और इसे हम अनलाइन कैसे चेक कर सकते है।

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स की कीमत 

सभी प्रकार के वाहन में इसकी कीमत भी अलग अलग होती है। अगर आपका दो पहिया वाहन है तो उसमें इसकी कीमत लगभग 400रु से 2500रु तक का प्रीमियम लग सकता है लेकिन कार या अन्य वाहनों में यह कीमत बढ़कर लगभग 2000रू से लेकर 8000रु के आस पास होता है। 

वाहनों को कीमत उसके इंजन पावर के अनुसार होता है। कम पावर वाले में कम कीमत और अधिक पावर इंजन में ज्यादा कीमत लगता है। उमीद है की अब आप समझ गए होंगे की third party insurance kitne ka hota hai

थर्ड पार्टी बीमा के तहत क्लैम किए जाने वाले नुकसान

  • दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति की शारीरिक क्षती या मौत होने पर 
  • सड़क हादसे में अन्य व्यक्ति के वाहन की मरम्मत में खर्च 
  • अन्य व्यक्ति की दुर्घटना में संपत्ति का नुकसान होने पर  

सामने वाले वाहन चालक के सभी हॉस्पिटल का खर्च भी इसमें शामिल होता है अगर आप अपने वाहन इन्शुरन्स में और कवर पाना चाहते है तो उसके लिए आपको फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स खरीदना पड़ेगा।

इसमें दोनों पार्टी को नुकसान की भरपाई कंपनी द्वारा प्राप्त होती है। इसके साथ ही आपके वाहन की मरम्मत में पूरा खर्च फर्स्ट पार्टी बीमा में कवर रहता है।  

थर्ड पार्टी बीमा के तहत क्लैम न किए जाने वाले नुकसान

इसमें बताये गए निम्नलिखित नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी नहीं देती है:

  • अगर आपका वाहन चोरी हो जाता है तो इसका मुवाबजा कंपनी द्वारा नहीं दिया जाता है. 
  • कोई सड़क हादसे में आपके खुद के वाहन का नुकसान कवर नहीं होता है।  
  • दुर्घटना के दौरान यदि आपके शरीर में किसी प्रकार की चोट लगती है तो इसका ख़र्च आपको नहीं मिलता है।  

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स का फायदा 

इसका बड़ा फायदा है की थर्ड पार्टी इन्शुरन्स के अनुसार वाहन चालक को एक मिनिमम अमाउंट देना पड़ेगा।  इसके बाद का सारा ख़र्च बीमा कंपनी उठाती है। उसके वाहन का नुकसान के साथ उसको लगी चोट के इलाज में लगने वाला पुरे ख़र्च की जिम्मेदारी कंपनी की होती है। 

  1. किसी की मृत्यु या शारीरिक क्षति होने पर हर्ज़ाना 

अगर किसी दुर्घटना में आपके वाहन से सामने वाले की मौत या उसे गंभीर चोट आती है तो इसमें लगने वाले सभी प्रकार के हॉस्पिटल बिल्स, दवाइयों का ख़र्च उठाने की जिम्मेदारी इन्शुरन्स कंपनी की होती है।  

  • किसी व्यक्ति के वाहन या संपत्ति की क्षति पर मुआवजा

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स के तहत सड़क हादसे में अगर आपसे कोई सम्पति या किसी वाहन का नुकसान होता है तो इसका पूरा खर्च आपको नहीं बल्कि कंपनी देती है, जिससे आपकी पैसों की भी बचत हो जाती है।  

  • कानूनी और अस्पताल संबंधी खर्चों का भुगतान

भले ही थर्ड पार्टी इन्शुरन्स में बीमा कराने वाले को पैसे नहीं मिलते लेकिन सामने वाले का आपके कारण उस नुकसान का हर्जाना कंपनी देती है। इसमें हॉस्पिटल खर्च के साथ साथ कानूनी खर्चे भी शामिल होते है। यह सबसे उपयोगी तब साबित होता है जब आपसे बहुत बड़ा नुकसान हो गया है और उसका भुगतान आपके बस की बात नहीं है। ऐसी परिस्थिति में यह इन्शुरन्स आपके लिए वरदान की भाँती हो जाता है।

इसे भी पढे:
> अपनी बाइक को OLA मे लगाकर पैसे कैसे कमाए

> किसी भी गाड़ी के नंबर से उसके मालिक का Address कैसे पता करे?

थर्ड पार्टी बीमा कैसे खरीदें?

अपने वाहन का थर्ड पार्टी बीमा खरीदने के कुछ तरीके जिन्हे आपको जानना चाहिए जैसे की:

  • पहला इन्शुरन्स कंपनी की Official Website में जाकर 
  • दूसरा आप Insurance Aggregator के द्वारा भी खरीद सकते है 

ऑनलाइन बिमा कैसे खरीदना है इसकी पूरी प्रक्रिया के बारे में आगे विस्तार से जानेगे। 

Third-Party Insurance Online Apply कैसे करे?

आजकल कई कंपनी के वेबसाइट और apps है जहां से आप ऑनलाइन थर्ड पार्टी इंश्योरेंस खरीद सकते है। इनमें से Cover Fox और Policy Bazaar वेबसाइट सबसे प्रसिद्ध है। यहां से आप कोई भी इंश्योरेंस खरीद सकते है और साथ ही insurance renew भी आसानी से करवा सकते है।

किसी इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट से बीमा कराने का तरीका

अगर आप ऑनलाइन किसी इन्शुरन्स कंपनी से वाहन का बीमा करवाना चाहते है तो इसकी प्रक्रिया मैंने नीचे बताया है- 

1. सबसे पहले उस इन्शुरन्स कंपनी के वेबसाइट में जाए और उसके होमपेज में अपने वाहन के मुताबिक ऑप्शन चुन ले। दो पहिया वाहन या अन्य किसी वाहन से चयन कर ले। 

2. अब आपको अपने वाहन की सभी जरुरी जानकारी जिसमें आपका वाहन नंबर, वाहन का रजिस्टर नंबर, अपना मोबाइल नंबर, ईमेल ईडी, इत्यादि शामिल है. इनको ध्यानपूर्वक भर ले।  

3. इसके बाद सबमिट करते है फिर गेट क्वोटस ऑप्शन पर क्लिक करते ही आपके सामने कंपनी की सभी प्रीमियम की कीमत देख जाएगी।   4. अब आप अपने अनुसार किसी भी प्रीमियम का चयन कर अन्य जानकारी भी डाल दे। इसके बाद आप उस प्रीमियम का भुगतान करके खरीद ले।

Direct Insurance कंपनी की वेबसाइट।

यह एक general insurance होता है इसलिए वाहन का इन्शुरन्स करवाने के लिए कई कंपनी की वेबसाइट मैंने आपको बताया है जिसके जरिये आप बीमा खरीद सकते है। उन सभी कंपनी के नाम और साथ ही लिंक्स आपको निम्न बताया गया है- 

न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड www.newindia.co.in

यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड www.uiic.co.in

बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस कंपनी www.bajajallianz.com

टाटा एआईजी जनरल इंश्योरेंस कंपनी www.tataaig.com

चोला एमएस कार इंश्योरेंस कंपनी www.cholainsurance.com

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी www.reliancegeneral.co.in

ये सभी वेबसाइट है. यहाँ से आप ऑनलाइन इन्शुरन्स ले सकते है।  

अपना इन्शुरन्स क्लेम कैसे करे?

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम करने के लिए पहले आपको पुलिस में FIR दर्ज़ करवाना है।अब छतीग्रस्त वाहन की जानकारी बीमा कंपनी को दिखानी है। इसके साथ मे वाहन मालिक का क्लेम फॉर्म में हस्ताक्षर क्लेम, FIR की कॉपी, वाहन का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़, आरसी (RC) पेपर की कॉपी, इत्यादि सभी दस्तावेजों को एजेंट से संपर्क करके कंपनी मे क्लेम करने के लिए जमा कर दे। 

फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स और थर्ड पार्टी इन्शुरन्स मे अंतर।

जब बात आती है, वाहन बीमा कि तो इसमें फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी इंसुरांस सुनने मिलता है। 

फर्स्ट पार्टी इंसूरांस में सड़क हादसे मे दोनो पकचून कि संपति और शारीरिक नुकसान का पूरा ख़र्च बीमा कंपनी उठाती है। 

वहीं, थर्ड पार्टी इंसूरंस वाहनों में दुर्घटना होने पर तीसरे पछ को यानी जिससे आपका वाहन टकराया है उसे सारा लाभ और नुकसान कि भरपाई कंपनी देती है। इसमें आपको कुछ नहीं दिया जाता है। आपके वाहन मे थर्ड पार्टी इनसुरांस का होना कानूनी रूप से अनिवार्य कर दिया गया है।  

वाहन बीमा क्या होता है? | Vehicle Insurance Kya Hota Hai

यह बीमा वाहन के किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने या क्षतिग्रस्त होने पर आर्थिक रूप से सहायता कंपनी प्रदान करती है। इसका लाभ थर्ड पार्टी को दिया जाता है जिसको आपने टक्कर मारी है। इस बीमा के होने से आप सामने वाले के नुकसान में लगने वाले खर्च से बच जाते है। इसका पूरा भार बीमा कंपनी वाले उठाते है। 

इसे भी पढे:
> मोबाईल की मदद से LIC Policy मे अड्रेस और मोबाईल नंबर कैसे चेंज करे?

> Online UP का जन्म प्रमाण पत्र कैसे Apply करे

Vehicle owner को क्या फायदे होते है?

अगर आप वाहन के मालिक या चालक है तो थर्ड पार्टी इंश्योरेंस वाली कंपनी आपकी वाहन की या आपके शरीर की क्षती होने पर आपका खर्चा कंपनी नहीं उठाती है। आपको खुद ही अपने नुकसान की भरपाई करनी पड़ती है।

हालांकि काफी लोगो को लगता है की थर्ड पार्टी इन्शुरन्स करवाना उनके लिए फायदेमंद नहीं है, लेकिन ये बात पूरी तरह सही नहीं है. ये बात सही है की इसमें वाहन मालिक या चालक को कुछ नहीं मिलता, लेकिन जिससे आपकी दुर्घटना हुई है उसका सारा खर्चा और नुकसान का भार कंपनी प्रदान करती है।

उस व्यक्ति का हॉस्पिटल ख़र्च भी बिमा कंपनी देखती है। कभी कभी नुकसान अधिक होने पर कोई लोगो के पास नुकसान भरपाई करने के पैसे नहीं होते है। उस दौरान थर्ड पार्टी इन्शुरन्स आपकी सहायता करती है।  

आज आपने क्या सीखा? 

उम्मीद करता हूँ, आपको हमारा ये पोस्ट (third party insurance kya hota hai और 3rd party insurance kya hota hai) फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है, इससे क्या फायदा होता है? ये सभी जानकारी विस्तार से इस पोस्ट के माध्यम से बताया है ताकि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस का मतलब समझ आ सके। अगर आपका कोई सवाल है इस लेख से संबंधित तो कमेंट करके हमे जरूर बताए और साथ ही अपने दोस्तों को भी थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्या है? इसकी जानकारी उन्हें शेयर करके प्रदान करे।  

FAQ’s

First पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है?

यह एक प्रकार का वाहन बीमा होता है। जो हर प्रकार के वाहन के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। फर्स्ट [पार्टी इन्शुरन्स के तहत आपके वाहन से दूसरे को नुकसान होने पर पूरी भरपाई बीमा कंपनी देती है।  

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स कितने का है?

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स की कीमत दो पहिया वाहनों के लिए 400rs से 2500rs के बिच हो सकता है. वाहन का इंजन पावर (CC) के अनुसार कीमत है।  कार या अन्य वाहन में कीमत लगभग 2000 से लेकर 8000 तक का प्रीमियम हो सकता है।   

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में क्या क्या मिलता है?

इसमें इंश्योरेंस का लाभ तीसरे वेकती को मिलता है, जिसमें उसके वाहन की मरम्मत से लेकर उसकी शारीरक छति ग्रस्त का पूरा ख़र्च बिमा कंपनी देती है।  

फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी बीमा में क्या अंतर है?

फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स में दोनों पार्टी के वाहनों के नुकसान की भरपाई कंपनी देती है लेकिन थर्ड पार्टी इन्शुरन्स में आपको नहीं बल्कि सामने वाले वाहन के नुकसान में लगने वाला खर्च दिया जाता है। 

ऐसे ही लैटस्ट अपडेट के लिए हमसे जुड़े रहिए हमारे Whats'App पर जुड़े।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Please Follow On Instagram instagram

Leave a Comment

%d bloggers like this: